शुक्रवार, 20 जनवरी 2012

भक्त और भगवान - अजय ठाकुर (मोहन जी)


भक्त और भगवान के गज़ब रिश्ता अछि ई युग में
पूजा पाठ के बदला घर दुआर मँगे अछि कलयुग में
मंदिर में घंटा बजोता बहुत जोर स देखाबा के लेल
पीठ पाछु सभहक गर्दन कटे छथि ई कलयुग में 
भगवान के पता छैन हरिदम हम साथ नहीं देबैन
धरती पर तै माय-बाप के भेजला ई कलयुग में
गुमान कम नहीं होयत अछि चुटपुजिय पंडितो के 
कॉज होय त टाँका मुह फोली क मंगता कलयुग में
भक्त और भगवान के गज़ब रिश्ता अछि ई युग में
पूजा पाठ के बदला घर दुआर मँगे अछि कलयुग में

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें

  © Mithila Vaani. All rights reserved. Blog Design By: Chandan jha "Radhe" Jitmohan Jha (Jitu)

Back to TOP